हुमायूँ

हुमायूँ  Humayum, second empereur moghol (1508-1556) 

nom masculin   

हुमायूँ का मकबरा  le tombeau d’Humayum

 

मुग़ल सम्राट हुमायूँ  l’empereur moghol Humayum

हुमायूँ की ताजपोशी  le couronnement de Humayum

हुमायूँ एक मुगल शासक था  Houmayoum était un empereur moghol

हुमायूँ का जीवन रोमांचक था  la vie de Humayum a été passionnante

शेरशाह सूरी ने हुमायूँ को अपदस्थ कर दिया  Shershah Suri a évincé Humayum

मुग़ल साम्राज्य की नींव में हुमायूँ का योगदान  la contribution de Humayun à la fondation de l’Empire moghol

बाबर की मृत्यु के पश्चात हुमायूँ ने १५३० में भारत की राजगद्दी संभाली  à la mort de Babur, Humayum monta sur le trône de l’Inde en 1530

उसकी प्रिय बेगम ने क़िले के निकट ही उसकी याद में बहुत सुंदर मक़्बरा बनवाया  son épouse bien-aimée a fait construire près du fort un beau mausolée en sa mémoire 

हुमायूँ दिल्ली में अपने क़िले के पुस्तकालय की इमारत की पहली मंज़िल से गिर जाने के कारण मर गया  Humayum est mort en tombant du premier étage de sa bibliothèque du Fort de Delhi